Thursday, October 14, 2010

कविता की रेजगारी

जवानी में उसने एक बार समुद्र में
पेशाब किया
और अपना शेष जीवन उसके परिणामस्वरूप
समुद्र की ऊँचाई कितनी बढ़ गयी
यह नापने में खर्च किया

No comments: