Thursday, June 10, 2010

और तुम भी .

कभी ऐसा भी होता है
कभी ऐसा ही होता है
और
एक रौशनी चली जाती है
bina kisi ko prakashit kiye

No comments: